Homefather story

पापा का प्यार प्रेरणादायक कहानी : Dads & son inspirational love story.


father-son-insprational-story
धयान से पढ़ना आँखों में पानी आ जाएगा, बहुत मेहनत से लिखा है आप शेयर जरुर करना अगर अच्छी लगे तो आपसे दिल से गुजारिश करता हूँ |
.
बड़े गुस्से से मैं घर से चला आया…
इतना गुस्सा था की गलती से पापा के ही जूते पहन के निकल गया,
मैं आज बस घर छोड़ दूंगा,
और तभी लौटूंगा जब बहुत बड़ा आदमी बन जाऊंगा … 
जब Motercycle नहीं दिलवा सकते थे,
तो क्यूँ Engineer बनाने के सपने देखतें है …
आज मैं पापा का पर्स भी उठा लाया था ..
जिसे किसी को हाथ तक न लगाने देते थे …
मुझे पता है इस पर्स मैं जरुर पैसो के हिसाब की डायरी होगी …. 
पता तो चले कितना माल छुपाया है …
माँ से भी …
इसीलिए हाथ नहीं लगाने देते किसी को..
जैसे ही मैं कच्चे रास्ते से सड़क पर आया,
मुझे लगा जूतों में कुछ चुभ रहा है …
मैंने जूता निकाल कर देखा …
मेरी एडी से थोडा सा खून रिस आया था …
जूते की कोई कील निकली हुयी थी,
दर्द तो हुआ पर गुस्सा बहुत था…
और मुझे जाना ही था घर छोड़कर …
जैसे ही कुछ दूर चला ….
O_o
.
मुझे पांवो में गिला गिला लगा,
सड़क पर पानी बिखरा पड़ा था ….
पाँव उठा के देखा तो जूते का तला टुटा था …
जैसे तेसे लंगडाकर बस स्टॉप पहुंचा,
पता चला एक घंटे तक कोई बस नहीं थी …
मैंने सोचा क्यों न पर्स की तलाशी ली जाये ….
मैंने पर्स खोला, एक पर्ची दिखाई दी,
लिखा था.. 
Laptop के लिए 40 हजार उधार लिए,
पर Laptop तो घर मैं मेरे पास है ? 
दूसरा एक मुड़ा हुआ पन्ना देखा,
उसमे उनके Office की किसी Hobbies Day का लिखा था 
उन्होंने Hobbies लिखी अच्छे जूते पहनना …
ओह….अच्छे जुते पहनना ???
पर उनके जुते तो ………..!!!!
माँ पिछले चार Month से हर पहली को कहती है नए जुते ले लो …
और वे हर बार कहते “अभी तो 6 महीने जूते और चलेंगे ..
मैं अब समझा कितने चलेंगे…
तीसरी पर्ची….
पुराना Scooter दीजिये Exchange में नयी motercycle ले जाइये …
पढ़ते ही दिमाग घूम गया…..
पापा का स्कूटर …..
ओह्ह्ह्ह
मैं घर की और भागा…
अब पांवो में वो कील नही चुभ रही थी ….
मैं घर पहुंचा …..
न पापा थे न स्कूटर….
ओह्ह्ह नही
 मैं समझ गया कहाँ गए ….
मैं दौड़ा …..
और 
एजेंसी पर पहुंचा….
पापा वहीँ थे …
मैंने उनको गले से लगा लिया, और आंसुओ से उनका कन्धा भिगो दिया …
नहीं…पापा नहीं…
मुझे नहीं चाहिए Moter cycle…
बस आप नए जुते ले लो और मुझे अब बड़ा आदमी बनना है..
वो भी आपके तरीके से …।।
“माँ” एक ऐसी Bank है जहाँ आप हर भावना और दुख जमा कर सकते है…
और
“पापा” एक ऐसा Credit Card है जिनके पास Balance न होते हुए भी हमारे सपने पूरे करने की कोशिश करते है….
Always Love Your Parents
अगर दिल के किसी कोने को छू जाये तो शेयर जरुर करना 
एक Share पापाजी के नाम,
एक बार पेज खोलकर देखिये  पसंद आये तो अवश्य लाईक करे

Please Like 

Comments (1)

  • बहुत ही बढ़िया article लिखा है आपने। ……..Share करने के लिए धन्यवाद। 🙂 🙂

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *