Support to Indian Army - भारतीय सेना को समर्थन |

support-to-indian-army

मेरे प्यारे देशवासियों उन प्यारे शहीदो के समर्पित । हर हिंदुस्तान का दर्द और आतंकवादियों को खुली चेतावनी देते हुए,  मैंने एक नई कविता तैयार की है | साथ जिसका सिरस्क है। एक घटा देगे-एक घटा दयांगे |

अब तक ठंडे बैठे थे। अब नया इतिहास बना देगे ।
दुनिया में जो सबसे अच्छे देश है उनमे से एक घटा देगे ।

भाई चारा समधी समझौते, कर-कर के हम हार लिए ।
कदे 1 कदे 2 कदे 18, बहुत सैनिक तुमने मार दिए ।
कितने वीर शहीद हो गए जो तुम लोगो ने मौत के घाट उतार दिए ।
तुम भी कभी सुधर जाओगे। ये हम सोच-सोच के हार लिए ।

तुम्हारे से जो घाव उधार लिए,
अब समेत ब्याज लोटा देगे,
दुनिया में जो सबसे अच्छे देश है,
उनमे से एक घटा देगे।

सन 65 का दिन याद करो ।
कारगिल की याद दिलावा के(याद दिलाना )।
हसके कुर्बानी देदी थी मायां के लाल (माँ के लाल ) गिणावा के । 
कितनी -कितनी विधवा होगी उनका भी सिंदूर गिणावा के।
जन्म से पहले अनाथ होये उनके भी नाम गिणावा के।
अब अपना मन समझावा के, अब अपना मन समझावा के ।
तुम्हारा धड़ से शीस (सिर)उड़ा देंगे ।
दुनिया में जो सबसे अच्छे देश है उनमे से एक घटा दयांगे |

तुम ना सोचो यो भारत आपस में लड़ता पावगा ।
पानी और बोली की तरह दो कोश पर बदला पावगा ।
जब आन तिंरगे की आवह ।
एक रसी में बंद जवह्गा ।
हिन्दू,मुस्लिम,सिख,ईसाई तन बॉर्डर पर पावगा ।
फिर हर कोई हथियार उठावगा ।
तुमको  छटी का दूध याद करवावा गे ।
दुनिया में जो सबसे अच्छे देश है उनमे से एक घटा दयांगे |

जो चाँद न फीका कर दे। दुनिया में वो दाग स तू ।
म्हारे रंग गुलाल से खेला कर है ।
तू चाव्ह खेलणा खुनी फाग स ।
तनह खान्गोल के देखन लागा ।
पावः सूखा झाग स तू ।
कितनी बार तन छाती के लाया ।
निकला दगे बाज स तू ।
बिना नमक मिर्च का साग स तू ।
तन काँचे न भी खाजागे ।
दुनिया में जो सबसे अच्छे देश है उनमे से एक घटा दयांगे ।

अब तक तन जो ना देखया ।
अब तन दिख जावगा ।
युधिष्टर, अर्जुन की गेल्या ।
खड़ा दुरियोधन भी पावगा ।
सुभाष बोस की फ़ौज स तैयार ।
तन युद्ध के रूल सिखावागे ।
ना सोच भगत सिंह खोग्या ।
हर भगत सिंह उर पावगा ।
महाराणा प्रताप भी आवगा ।
तेरी ईंट से ईंट बजा दागे ।
दुनिया में जो सबसे अच्छे देश है उनमे से एक घटा दयांगे |

जो शहीद पति की अर्थी उठा ले ।
वो भारत की नारी स ।
देश की ख़ातिर हथियार उठा ले ।
वा रानी लक्ष्मीबाई भी म्हारी स ।
दुष्टा का सघार करण न माँ दुर्गा भी आरी स।
ये इसी भारत की नारी स। तेरी चारो कुण हिलादयांगे ।
दुनिया में जो सबसे अच्छे देश है उनमे से एक घटा दयांगे |

जे लड़ना चाव्ह स डटके।
तो खुलके सांमणे आजा न ।
कितना दम स तेरी छाती में एक बार तो दिखा जा न।
कुत्ता, बिल्ली आरी बहुत हुई। अब शेरों से टकराजा न ।
          जय हिन्द
                       जय भारत
Previous
Next Post »