हमारी जिंदगी की 20 हक्कीकत बातें | 20 reality of our lives things |

20-reality-of-our-lives-things


★ जिंदगी में कभी भी किसी को बेकार मत समझना।
क्योकि बंद पड़ी घड़ी भी दिन में दो बार सही समय बताती हैं।

★ किसी की बुराई तलाश करने वाले इंसान की मिसाल उस मख्खी की तरह है।
जो पुरे खूबसूरत जिस्म को छोड़कर केवल जख्म पर आकर बैठती है।

★ टूट जाता है गरीबी में जो रिश्ता खास होता है।
हजारो yaar बनते है जब पैसा पास होता है।

★ मुस्करा कर देखो तो सारा संसार रंगीन नजर आता है।
वर्ना भीगी पलको से तो आईना भी धुँधला नजर आता है।

★ जल्दी मिलने वाली चीज ज्यादा दिन तक नहीं चलती 
जो चीज ज्यादा दिन तक चलती है। वो जल्द नही मिलती।

★ बुरे दिनों का एक अच्छा फायदा है।
इसमें अच्छे-अच्छे dost परखे जाते है।

★ बिमारी खरगोश की तरह आती है और कछुए की तरह जाती है।
जबकि पैसा कछुए की तरह आता है। और खरगोश की तरह चला जाता है।

★छोटी-छोटी बातों में आनंद खोजना चाहिए।
क्योकि बड़ी-बड़ी बाते तो जीवन में कुछ ही बार आती है।

★ईस्वर से कुछ माँगने पर ना मिले तो नाराज मत होना।
क्योकि ईस्वर वह नही देता जो आपको अच्छा लगता है।
बल्कि वह देता है जो आपके लिए अच्छा होता है।

★ लगातार हो रही असफलताओं से निराश नही होना चाहिए।
क्योंकि कभी-कभी गुच्छे की आखरी चाबी से  भी ताला खोल देती है।

★यह हम लोगो की सोच है कि अकेला इंसान क्या कर सकता सकता है।
पर देख जरा उस सूर्ज को वो अकेला ही चमकता है।

★रिश्ते चाहे कितने ही बुरे क्यों ना हो उन्हें तोड़ना मत।
क्योकि पानी चाहे कितना भी गन्दा हो अगर प्यास नही बुझा सकता हो। लेकिन आग तो बुझा ही सकता है।

★ अब वफ़ा की उम्मीद भी किस से करे भला।
मिट्टी से बने लोग कागज से बिक जाते है।

★ अगर इंसान बनकर इंसान की तरह ना बोलना आए,
तो जानवरो की तरह चुप रहना अच्छा है।

★ जब हम बोलना नही जानते थे। तो हमारे बिना बोले माँ हमारी सारी बात समझ जाती थी।
और आज हम हर बात पर कहते है। छोड़ा भी ना माँ आप नही समझोगी

★ शुक्रगुजार हूँ उन तमाम लोगों का जिन्होंने बुरे वक़्त में मेरा साथ छोड़ दिया।
क्योकि उनको भरोसा था कि मैं मुसीबत से अकेला ही निपट सकता हूँ।

★शर्म की अमिरी से, इज्जत की गरीबी अच्छी है।

★ जिंदगी में उतार चढ़ाव का आना बहुत जरूरी हैं।
क्योकि E.C.G. में सीधी लाइन का मतलब मौत ही होता हैं।

★ रिश्ते आजकल रोटी की तरह हो गए हैं।
जरा सा आँच तेज क्या हुआ। जल भूनकर खाक हो जाते है।

★ जिंदगी में अच्छे लोंगो की तलाश मत करो।
बल्कि खुद अच्छे बन जाओ। क्योकि आप से मिलकर शायद किसी की तलाश पूरी हो जाए।
Previous
Next Post »

3 comments

Click here for comments
HindIndia
admin
10 January 2017 at 05:59 ×

बहुत ही बढ़िया article है। .... Thanks for sharing this!! :) :)

Reply
avatar
11 February 2017 at 20:03 ×

जीवन की सच्चाई हमेशा कड़वी होती हैं. इसी कड़वेपन को आपने अच्छे से पेश किया.

Reply
avatar
Arvind Yadav
admin
7 April 2017 at 23:14 ×

bahut achha aise likhte rho --- https://www.dainikdiary.com

Reply
avatar