कल्पना चावला के जीवन की कहानी | Kalpana Chawla Biography in Hindi

kalpana-chawla-biography-in-hindi

दोस्तों आज मैं  आपके सामने एक ऐसी महान बेटी का जिक्र करने वाला हूँ । जिस बेटी ने अपने जीवन में हर इंसान के दिल में अपनी जगह बनाई है । जिसने अपने जीवन में ऐसे महान काम किए है कि हमे भी उस बेटी का नाम लेने में गर्व महसूस होता है । दोस्तों उस बेटी का नाम है कल्पना चावला , दोस्तों आपने नाम तो सुना ही होगा आज में इस बेटी के बारे में में आपको विस्तार से बताऊँगा । चलिए जानते है इस महान बेटी के बारे में और हम भी उन्ही की तरह कुछ करने की प्रेरणा लेते है ।

Kalpana Chawla Biography in Hindi.

Motivational Speech in Hindi

दोस्तों दुनियां में कुछ लोग सिर्फ जीने के लिए आते है ।
मौत तो महज उनके शरीर को खत्म करती है ।

आज दोस्तों में इस Article में बात करने वाला हूँ बहादुर बेटी कल्पना चावला की , भले ही 1 फरवरी  2003 को कोलंबिया इस्पेस स्टल दूर्घटना ग्रस्त होने के साथ कल्पना की उड़ान रुक गई । लेकिन आज भी यह बेटी दुनिया के लिए मिशाल है ।

Motivational Quote in Hindi

दोस्तों सोच को कोई नही रोक सकता । सोच हमेशा उड़ान भर्ती आई है । और उड़ान भर्ती रहेगी ।


कल्पना चावला का जन्म और स्थान

अंतरिक्ष की परी कहि जाने वाली कल्पना चावला का जन्म हरियाणा(भारत ) के करनाल शहर में 17 मार्च 1962 को हुआ था ।

पहली भारतीय महिला अंतरिक्ष

कल्पना चावला अंतरिक्ष में जाने वाली पहली भारतीय महिला थी । उनके पिता का नाम बनार्शी लाल और माता का नाम सज्योति है । कल्पना चावला को बचपन में उन्हें प्यार से मोटू कहकर बुलाते थे । दोस्तों कल्पना नाम ही अपने आप में एक महान नाम है । दोस्तों कल्पना चावला बचपन में ही कल्पना भरी बातें किया करती थी । कल्पना चावला हमेशा आकाश और उनकी ऊचाइयों ले बारे में सोचती रहती थी और बाते किया करती थी । कल्पना चावला हमेशा अपने पापा से चाँद-तारों और विमानों के बारे में बात किया करती थी ।

कल्पना चावला की प्रारभिक पढ़ाई 

कल्पना चावला की प्रारभिक पढ़ाई करनाल के Tagore Baal Niketan Sr. Sec. School, Karnal  में हुई । फिर कल्पना ने 1982 में चंडीगड़ इंजीनियरिंग कॉलेज से एरो नॉटिकल इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की , उसके बाद कल्पना चावला अपने ख्वाबो को पूरा करने के लिए अमेरीका चली गई । वहाँ जाकर कल्पना चावला  University of Colorado Boulder से PHD की उपाधि प्राप्त की ।

कल्पना चावला को 1988 में NASA में शामिल कर लिया गया कल्पना ने NASA में रहकर अपने जीवन में बहुत सारे रिसर्च भी किए । कल्पना चावला की लगन और मेहनत को देखते हुए बाद में उन्हें अंतरिक्ष मिशन की Top 15 की टीम में शामिल कर लिया गया । और देखते ही देखते उन 6 लोगो की टीम भी कल्पना चावला का नाम शामिल हो गया । जिनको अंतरिक्ष में भेजा जाना था । और इसी तरह कल्पना चावला के सपनों को अब पँख लग चुके थे । कल्पना चावला के साथ जाने वाले 6 यात्री और थे जिनका नाम निचे दिया गया है |
  1. कमांडर रिक डी . हुसबंद
  2. पायलट विलियम स. मैकूल
  3. कमांडर माइकल प . एंडरसन
  4. इलान रामों
  5. डेविड म . ब्राउन
  6. लौरेल बी . क्लार्क

Awards of Kalpana Chawla :-

Congressional Space Medal of Honor
NASA Space Flight Medal
NASA Distinguished Service Medal

कल्पना चावला का पहला अंतरिक्ष मिशन

कल्पना चावला का अपने जीवन में पहला अंतरिक्ष मिशन 19 नवम्बर 1997 को 6 अंतरिक्ष यात्रियों के टीम के साथ अंतरिक्ष स्टल कोलंबिया (Space Shuttle Columbia)की उड़ान STS 87 से  शुरू हुआ । कल्पना चावला अंतरिक्ष में उड़ने वाली प्रथम भारतीय महिला थी । यह मिशन सफलता पूर्वक 5 दिसम्बर 1997 को समाप्त हुआ । इस मिशन के बाद भारत की इस बेटी के हुनर को पूरे विश्व में जाने -जाना लगा ।

उस समय भारत के लोगो को अंतरिक्ष की समझ भी नहीं थी । उस समय भारत की बेटी कल्पना चावला ने अंतरिक्ष में जाकर पुरे विश्व जगत में भारत का समान बढ़ाया और अपने माता-पिता का नाम रोशन किया था । सभी ने कल्पना चावला के हुनर को सलाम किया और फिर 5 साल बाद NASA ने अंतरिक्ष में जाने के लिए उन्हें चुना ।


कल्पना चावला का दूसरा अंतरिक्ष मिशन 

कल्पना चावला का दूसरा अंतरिक्ष मिशन 16 जनवरी 2003 को कोलंबिया  इस्पेस स्टल से ही आरंभ हुआ । यह 16 दिन का मिशन था इस मिशन पर कल्पना चावला ने अपनी टीम के सभी साथियों से मिलकर 80 परीक्षण प्रयोग किए । लेकिन फिर वह हुआ जिसे सोचकर आँखे भर आती है ।

हाथों में फूल और गुलदस्ते लिए स्वागत के लिए खड़े विज्ञानिक और अंतरिक्ष प्रेमी सहित पूरा विश्व उस दुर्घटना को देखकर शौक में डूब गया । अंतरिक्ष को धरती पर उतरने में महज 16 मिनट रह गए थे । तभी अचानक स्टल ब्लास्ट हो गया और कल्पना चावला के साथ सभी अंतरिक्ष यात्री मारे गए ।

दोस्तों भले ही कल्पना चावला उस दुर्घटना की शिकार हुए हो । लेकिन दोस्तों आज भी वह बेटी हर भारतीय के दिलो में जिन्दा है । कल्पना चावला पुरे विश्व के लोगों के लिए आदर्श है
Previous
Next Post »

1 comments:

Click here for comments
HindIndia
admin
21 March 2017 at 11:52 ×

बहुत ही बढ़िया article है ..... ऐसे ही लिखते रहिये और मार्गदर्शन करते रहिये ..... शेयर करने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद। :) :)

Congrats bro HindIndia you got PERTAMAX...! hehehehe...
Reply
avatar