टिम पेन ने इस गलती को ठहराया टेस्ट सीरीज हारने का सबसे बड़ा जिम्मेदार

tim-paine
Credit: Third party image

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली गई टेस्ट सीरीज में कंगारू टीम ने अपने घर में ही श्रृंखला खो दी, लेकिन ऑस्ट्रेलिया के कप्तान टिम पेन का मानना ​​है कि परिणाम अलग हो सकता था, एडिलेड में पहले टेस्ट में मेजबान टीम कुछ मौकों का फायदा नहीं उठा पाई.

पहले टेस्ट में घरेलू टीम ने उस टेस्ट में टॉस हारने के बावजूद भारत की पारी 86/5 लडखडा गई थी और ऑस्ट्रेलिया को 323 रनों का लक्ष्य दिया. अंतिम पारी में मेजबान टीम को जीत के लिए 32 रन चाहिए थे, अच्छी तरह से जीत सकती थी. मगर उनका टॉप आर्डर फ्लॉप रहा और हार का सामना करना पड़ा. ऑस्ट्रेलिया के लिए यह सुन्हेरा मौका था.

ऑस्ट्रेलिया ने पर्थ में जीत दराज करके श्रृंखला को बराबर किया था, लेकिन मेलबर्न में भारत का बोलबाला रहा और सिडनी में मैच ड्रा के साथ, भारत ने श्रृंखला 2-1 से हासिल की.

टिम पेन : टीम मुझे लगता है कि स्पष्ट एक (टर्निंग पॉइंट) एडिलेड टेस्ट था,” टिम पेन ने सोमवार, 7 जनवरी को मैच के बाद कहा हमें लगता है कि हमने उस टेस्ट मैच को हाथ से जाने दिया.

उस टेस्ट के दौरान हमारे पास कई मौके थे और वो अहम पल आए तो भारत ने इसका भरपूर फायदा उठाया.

पेन ने आगे कहा, श्रृंखला अच्छी तरह से 2-1 हो सकती थे, मेजबान टीम ऑस्ट्रेलिया ने सुन्हेरे मौके को हाथ से गवां दिया.

उन्होंने पीछे देखते हुए कहा , अगर हम उस पहले टेस्ट को जीत लेते और मेलबर्न में हार भी जाते तो सिडनी में ड्रा के साथ सीरीज 2-1 से हमारे नाम हो सकती थी.

ऑस्ट्रेलिया अपने दो बल्लेबाजों को याद कर रहा था – स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर को निलंबित कर दिया गया है, लेकिन पेन ने कहा कि उनका पक्ष अभी भी भारत को हराने के लिए आश्वस्त था. भारत भी तो MRF टायर्स आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में नंबर 1 की रैंकिंग पर है.

उन्होंने कहा, हम वास्तव में निराश हैं, हम जानते हैं कि स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर जैसे खिलाड़ी टीम का हिस्सा नहीं है, लेकिन हमने ईमानदारी से श्रृंखला में महसूस किया कि ऑस्ट्रेलिया में विशेष रूप से हम भारत को हरा सकते हैं.

जब वे बड़े क्षण आए, विराट कोहली ने रन बनाए हैं, चेतेश्वर पुजारा ने रन बनाए हैं, जसप्रीत बुमराह ने शानदार गेंदबाजी की है. हम उन पलों के माध्यम से काफी कुछ सीखने को मिला. भारत ने यह श्रृंखला इसलिए जीती, क्योंकि उनके सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी बड़े क्षणों में खड़े हुए थे.

jasprit-bumrah-mohhamad-shami-ishant-sharma
Credit: Third party image

पेन ने कहा, मार्कस हैरिस और ट्रैविस हेड के प्रदर्शन में सकारात्मकता दिखी. अगर हम अगले साल एशेज के लिए जाते हैं और मार्कस, ट्रैविस समझते हैं कि अब उन पर स्थिति का दबाव और तीव्रता है. इन खिलाडियों को पूर्ण उच्च-गुणवत्ता वाले हमले के खिलाफ निपटने की कुछ सकारात्मकताएं हैं.

ऑस्ट्रेलिया और भारत अब तीन ODI अंतरराष्ट्रीय मैचों में भिड़ेंगे, जिसकी शुरुआत 12 जनवरी को सिडनी में पहले वनडे से होगी.

Leave A Reply

Your email address will not be published.